अनुष्का शर्मा अपनी बेटी का चेहरा क्यों छुपाती हैं ? Why Anushka hides daughter’s face

हम्म्म्म, यह ऐसा सवाल है जो किसी के भी ज़हन में आना लाज़मी है। क्यों भई, बैठे-बैठे क्या करें तो चलो यही कर लेते हैं।

Anushka daughter

आजकल बच्चा अस्पताल में बाद में और सोशल मीडिया पर पहले पैदा हो जाता है, मेरा मतलब है उसकी फोटोज़ सोशल मीडिया तक पहुँच जाती हैं। फिर तैमूर हो या पड़ोस में पैदा हुए राजा चौधरी। मैं बता दूँ कि यहाँ किसी भी बच्चे की दूसरे बच्चे से तुलना नही हो रही बस बात को स्पष्ट रूप से रखने के लिए सबसे सूटेबल उदाहरणों कर इस्तेमाल हो रहा है।

मेरा मानना है सभी बच्चे अनमोल होते हैं। ऐसे में बच्चों के माँ-बाप फिर चाहें वो अनुष्का और विराट हों या आपके दूर के रिश्तेदार पूजा और राहुल। सभी की पहली प्राथमिकता होती है बच्चों की सुरक्षा।

अब यहाँ सुरक्षा की अपनी-अपनी समझ हो सकती है, जैसे -किसी को अपने बच्चे को बुरी नज़र से बचाना है तो किसी को सोशल मीडिया पर छोटे बच्चों से जुड़े असंवेदनशील और घटिया कमैंट्स से। इन सभी बातों को नज़र में रखते हुए भी लोग अपने नवजात कर चेहरा सोशल मीडिया, पब्लिक में नहीं लाना चाहते।

आप भूल गए? मैं तो नहीं भूली क्यूंकि बात ही इतनी घटिया और निम्नस्तर की है जो कोई भी कैसे भूल सकता है। तो जब करीना अपने दूसरे बच्चे को जन्म देनें वाली थी उस वक़्त हर थोड़ी देर में सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर एक नयी वीडियो या लेख अपडेट होता था जिनका टाइटल होता था “तैमूर के बाद, औरंगजेब” या ऐसे और भी किसी एक धर्म को टारगेट करते हुए असंवेदनशील हेडलाइंस की एक बाढ़ सी आ गई थी।

शर्मिंदगी यहाँ भी ख़त्म नहीं हुई, लोग अजन्मे बच्चें को गालियाँ दे रहे थे, घटिया मीम्स बना रहे थे। यह सब बहुत ज़्यादा हो गया था जिसने मुझे यह सोचने पर मजबूर कर दिया कि अपने बच्चे को पब्लिक में एक्सपोज़ करना बिलकुल सुरक्षित नही है।

और सोचिए ज़रा, बच्चे का नाम क्या होगा या वो क्या धर्म अपनाएगा कौन से ब्रांड का डायपर पहनेगा यह बातें सोचने का कितना फालतू समय है ना हमारे नौजवानों के पास।

ख़ैर, मैं बस अनुमान लगा रही हूँ कि उसी समय अनुष्का भी प्रेग्नेंट थी, उन और शायद उन पर भी इन बातों का प्रभाव पड़ा होगा या कह लीजिए एक डर मन में पैदा हुआ होगा! पहले बड़ी ख़ुशी से अपने बच्चे -बच्ची को इस दुनियाँ से परिचित करवाओ फिर यही लोग कुछ गड़बड़ होने पर इन्ही बच्चों को निशाने पर लाते हैं, गंदे मीम्स, टिप्पणी करते हैं, अपनी यूट्यूब कि दूकान पर इन बच्चों के नाम पर “नैशन वांट्स टू नो” खेलते हैं।

अर्रे भूल गए आप जब वमिका के पापा एक मैच हार गए थे तो वमिका की मम्मी को बेवजह कितनी गालियाँ पड़ी थीं? पितृसत्ता का मारा देश हमारा!

वैसा ऐसा ही कुछ अभी मंदिरा बेदी के साथ भी हुआ था लेकिन वो डरी नहीं और ट्रोलर्स को अच्छा सबक सिखाया यह पढ़िए:

ख़ैर, यह सब बहुत घटिया हरकते हैं। इसलिए अपने बच्चे की सुरक्षा, अपने निजी चुनाव का लाभ उठाते हुए अपने बच्चे को पब्लिक से दूर रखना, या आप कह लीजिए छुपाने में मेरी नज़र में कोई बुराई नही है।

और फिर मेरे बच्चे ने आज क्या खाया, कैसे नहाया-रोया-सोया यह बेवजह की जानकारी पब्लिक से दूर रहेगी तो ज़रूरी खबरों पर हमारे मीडिया वाले और प्यारी जनता ध्यान दे पाएगी।

पत्रकार महोदय अब बस यह समझने को राज़ी हो जाए कि जहाँ अम्मा अपने छोटे से बच्चे को बाज़ूओं में दबाकर, भीड़ से निकलने की कोशिश कर रही हैं आप कैमरा ज़ूम करके सनसनीखैज़ खबरें बनाने से बाज़ नही आ रहे। अमा मियाँ इसमें कोई फ़ैयदा नही ना मज़ा है इसलिए माँ और बच्ची को अकेला छोड़ दो और पापाजी के मैच पर ध्यान दो।

ठीक कह रही हूँ ना पब्लिक? कुछ कहना चाहते हैं, पूछना चाहते हैं तो नीचे लिखिए 24 घंटो के अंदर जवाब मिलेगा।

#WhyAnushkahidesherdaughter’sface #Anushkabetikachehrakyunchipaatihain

1 thought on “अनुष्का शर्मा अपनी बेटी का चेहरा क्यों छुपाती हैं ? Why Anushka hides daughter’s face”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *