गर्भनाल Umbilical Cord Care- देखभाल कैसे करनी है?

umbilical cord, infection care in Hindi
गर्भनाल

गर्भनाल-umbilical cord: यह नाल जब आप गर्भवती थी तो आपके और आपके बच्चे के बीच का तार था, या कह लीजिये वो डोर थी जिसने आप दोनों जोड़े रखा, जिसका, मुख्य काम आपसे बच्चे को ऑक्सीजन और पोषक तत्व पहुँचाना और बच्चे के अंदर का waste यानि कचरा आप तक वापिस भेजना था।
शाबाश भाई umbilical cord बहुत मेहनत की तुमने इन 9 महीनों में।

अब जब बच्चे का जन्म हो गया, इस नाल को काट कर अलग कर दिया, लेकिन उसका एक छोटा सा हिस्सा अभी भी नवजात के पेट/नाभि पर है। उसका क्या करना है? बस उसकी का जवाब आगे है :

बच्चे के जन्म के बाद जिस दिन हॉस्पिटल से मुझे डिस्चार्ज होना था यानि घर आना था, तो मेरी डॉक्टर मुझे घर जाने के लिए all the best कहने आयीं। और कई ज़रूरी बातें याद दिलाई कि घर जाकर क्या करना है या क्या नहीं करना है। जिसमें से एक था बच्चे की umbilical cord यानि की गर्भनाल की देखभाल।

तो जो मुझे एक विशेषज्ञ ने कहा मैं आपको वही बता रही हूँ :

उन्होंने कहा, नयी मम्मी, आपको आपके रिश्तेदार या घर वाले कह सकते हैं कि बच्चे की नाभि में कोई तेल दाल डाल दो, पाउडर डाल दो, या उसे खींच के बाहर निकल दो। लेकिन आपको किसी की बात नहीं सुननी है। बच्चे के गर्भनाल के एरिया को बिलकुल मत छेड़ना, यह तेल, पाउडर सब उसमें इन्फेक्शन ला सकता है और बच्चे को सीरियस तकलीफ़ दे सकता है। उसके कपडे बदलते वक़्त बहुत सावधानी रखना गर्भनाल में किसी तरह का कोई दवाब, खिचाव नहीं आना चाहये।

जहाँ तक उसे नहलाने की बात है तो जब यह गर्भनाल सूख कर खुद गिर जाये तो ही बच्चे को नहलाना है। तब तक पानी के कपड़े से उसका शरीर पोंछना, साफ़ रखना एक दम काफी है।

मैं घर आयी और मैंने 1 हफ़्ते तक बिलकुल यही किया, और आप मानिये कि एक हफ़्ते से पहले ही गर्भनाल ख़ुद सूख कर गिर गई। बिना किसी extra efforts के। और पता है मेरी डॉक्टर एक दम सही थीं, मुझे कई लोगों ने कहा कि सरसों का तेल लगा दे नाल में जल्दी निकल जायेगी वगहैरा, लेकिन मैंने किसी की बातों पर ध्यान नहीं दिया।

कुछ लोग नहीं मानते और बच्चे को तकलीफ़ में डालते हैं :

एक उषा आंटी, हमेशा बकबककबक करने वाली, लेकिन अपने काम में एक दम बढियाँ यानि बच्चे की मालिश करना, उसको नहलाना और तैयार करना, मेरे बच्चे के लिए शुरआती महीने में मुझे मदद करने आती थीं। उन्होंने मुझे बताया कि फलाना, के यहाँ पर अभी एक लड़की हुई थी, पता नहीं उन्हें क्या परेशानी थी, उन लोगों ने बच्चे की नाल को खींच कर बाहर निकाल दिया -उफ्फ्फ्फ़।


माफ़ कीजिये इतना दर्दनाक वाक्य आपको बताने के लिए। लेकिन मैंने बताया ताकि आप यह ग़लती न करें।

और फिर क्या बच्ची को हॉस्पिटल लेकर भागना पड़ा, क्यूंकि इन्फेक्शन की वजह से नाल के पास का एरिया पूरा सूज चुका था।

आख़िर में इस बारे में मेरे पास आपसे कहने के लिए बस इतना ही है। एक हफ़्ते तक में गर्भनाल खुद सूख कर हट जाएगी बस आपको वो हिस्सा ड्राई-सूखा रखना है और ऊपर बताई गई बातों का ख्याल रखना है। इतना छोटा बच्चा हमारी नासमझी की वजह से कोई दर्द परेशानी न झेले इसके लिए हमें समझदारी से काम लेना होगा।

एक और बात

अगर आप बच्चे को डायपर पहना रहे हैं तो ध्यान रखिये कि कहीं डायपर बच्चे की नाल का हिस्सा ढंक तो नहीं रहा। क्यूंकि हमें उस हिस्से को खुला ही रखना है मतलब, डायपर, लंगोटी, से वो हिस्सा दबना नहीं चाहिए।

दूसरी बात अगर आपको उस हिस्से में सूजन, रेडनेस-लाली दिखाई देती है तो आपको अपने डॉक्टर से इसके लिए संपर्क करना चाहिए।

इससे जुड़ा कोई सवाल हो तो नीचे लिखिए, जल्दी ज़वाब दूंगी।

#umbilicalcordcareinhindi #garbhnaalkyahai #नवजातशिशुकीगर्भनाल

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *