दूसरा बच्चा कब करना चाहिए? चाहिए भी या नहीं?

Doosra bachha kab karna chahiye? Kya doosra bacha karna chahiye?

”चाहिए” कि “नहीं चाहिए” का जवाब सिर्फ आपके पास है और किसी के पास नहीं। देखिए आपके लिए आवश्यक वो है जो आपको अपने लिए आवश्यक लगता है। बिना किसी दवाब, गिल्ट, ख़ुद को साबित करने की रेस के-ख़ुशी से, इच्छा से, अपने लिए अपना अच्छा-बुरा ख़ुद का सोचते हुये आवश्यक। मैं यह क्यों कह रही हूँ उसका स्पष्टीकरण यहाँ है।

बच्चा होना किसी के भी जीवन में बहुत बड़ा बदलाव साबित हो सकता है, शरीर, भावनात्मकता, करियर, निजी जीवन सब लम्बे समय या कह लीजिए जिंदगी भर के लिए प्रभावित हो सकते हैं। ऐसे में अगर किसी का पहले ही कोई पहला बच्चा है तो दूसरे बच्चे को करने की सही वजह का होना बेहद ज़रूरी है, यह असल में एक बहुत ही सोचा-समझा हुआ निर्णय होना चाहिए।

बहुत से लोग कहेँगे, दूसरा बच्चा आएगा तो पहले को साथ मिल जायेगा, परिवार पूरा हो जायेगा, शादी मज़बूत हो जाएगी, वगैरह-वगैरह। लेकिन असल में इनमे से यह भी कोई दूसरा बच्चा करने की वैलिड-सही वजह नहीं है लिए। क्युंकि, पहला दूसरे के बिना भी पल जायेगा, परिवार तो पहले ही पूरा है, शादी मज़बूत प्यार, रिश्तों को समय देकर होती है।

दूसरा बच्चा होने के बाद आपको बच्चे से ही समय कहाँ मिलेगा जो आप शादी और खुद को समय दे पायेंगे। मैं यह नहीं कह रही कि ऐसा नहीं हो सकता, बिलकुल हो सकता है। लेकिन तब जब यह एक बहुत ही सोचा-समझा हुआ निर्णय हो।

अगर आप दूसरा बच्चा नहीं चाहते हैं तो यह अवसर है कि आप अपने पहले बच्चे को ज्यादा समय, ज्यादा अटेंशन दे पाएंगे, उसके लिए एक अच्छा जीवन प्लान कर पाएंगे। अपने करियर अपने स्वास्थ, रिश्तो को और समय दे पाएंगे।

लेकिन अगर फिर भी आप दूसरा बच्चा करने के बारे में सोच रहे हैं, क्योंकि आपको यह आपके लिए जरूरी लगता है, जिसके लिए आप मानसिक, भावनात्मक शारीरिक और आर्थिक हर रूप से तैयार हैं, तो क्यों नहीं! बस एक बार अपने साथी से भी चर्चा कर लें कि वो इस बारे में क्या सोचते हैं।

second child, kya doosra bachha karna chahiye?

अगर आप दूसरा बच्चा प्लान कर रहे हैं तो यह समझिए

दो बच्चो की उम्र में कितना फासला ठीक है?

आपको पता है WHO-विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, आपके दो बच्चों के बीच कम से कम 24 महीने का अंतर होना चाहिए।
ज़ाहिर सी बात है कि महिला का शरीर अपनी पहली गर्भावस्था से पूरी तरह से ठीक होने या कह लीजिये रिकवर होने में थोड़ा समय लेता है। जिसके लिए 24 महीने यानि लगभग २ साल का समय तो लग ही सकता है।

यह तो हो गई शरीर के रिकवर होने की बात, मानसिक रिकवरी का क्या? अभी-अभी अपने पहले बच्चे के साथ ताल-मेल बनाया है, आपने बहुत मेहनत की उसको समझने में, खुद को उसे समझाने में जिसमें काफी ऊर्जा खर्च हुई होगी। आपको भी थोड़ा आराम, नींद चाहिए होगी न।

और आप यह भी सोचिए कि 2 साल समय ही कितना होता है, पहला बच्चा तो अभी भी छोटा बेबी ही है, उसे आपका प्यार, साथ सबसे ज्यादा चाहिए। ऐसे में अगर आप उस पर बड़े भाई या बहन होने की ज़िम्मेदारी डाल देंगे तो यह उसके साथ कितना ठीक होगा?!

इन सब बातों को सोचते, समझते हुए भी आप दोनों बच्चों की उम्र में एक स्वस्थ फासला रख सकते हैं।

#दूसराबच्चाकबपैदाकरनाचाहिए #Secondbabyinhindi #dobachhonkebeechkaantar #दोबच्चोंकेबीचअंतर #secondchild

अभी भी कोई सवाल हैं तो कमेंट में लिखिए, आपका जवाब एक दिन के अंदर आप तक पहुँचाया जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *