यह मेरी कहानी है

माँ-पापा बनना आसान नहीं, लेकिन ख़ास ज़रूर है। आप पढ़ रहे हैं इस ख़ास सफ़र की दिल छूने वाली असली लोगों की असली कहानियाँ। जो बहुत शान से कहते हैं-यह मेरी कहानी है।

अगर आपकी भी है कोई कहानी तो हमसे शेयर कीजिये, अपनी कहानी यहाँ submit कीजिये।

प्रेगनेंसी में एक सही डॉक्टर का चुनाव कैसे करें?

Personal experience पर based यह वो सवाल है जो हर महिला के दिमाग में तब से आना शुरू हो जाता है जब से उन्हें यह पता चलता है कि वो गर्भवती हैं। आपको अभी पता चला है कि आप प्रेग्नेंट और आपके दिमाग में यह सवाल नहीं आया? खैर कोई नहीं इसे पढ़कर ज़रूर आएगा। …

प्रेगनेंसी में एक सही डॉक्टर का चुनाव कैसे करें? Read More »

कंट्रीब्यूटर लेखक बनने के लिए आमंत्रण Invitation to become a contributor writer:

उम्मीद है आप और आपका परिवार स्वस्थ और सुरक्षित हैं। मैं किरन आपसे कुछ कहने आयी हूँ। Mummyandrumi.com  एक ऑनलाइन कम्युनिटी बनने की अपनी दिशा में काम कर रहा है जहाँ हिन्दुस्तान से कई माता-पिता जुड़ेंगे, पढ़ेंगे और शेयर करेंगे अपनी निजी कहानियाँ, जज़्बात और कई ऐसे मुद्दों पर जानकारी जिनका उन्हे अनुभव है। उनकी …

कंट्रीब्यूटर लेखक बनने के लिए आमंत्रण Invitation to become a contributor writer: Read More »

मंदिरा बेदी की बेटी तारा मुझे भी कुछ याद दिलाती है।

Mandira bedi adopted daughter Tara -Slams troll on Instagram मंदिरा बेदी और उनके पति राज कौशल ने पिछले साल जुलाई में एक लड़की को गोद लिया था, और उसे बहुत ही प्यारा नाम तारा बेदी कौशल दिया। किसी भी माँ की तरह मंदिरा भी अपने बच्चों से बहुत प्यार करती है, जिसका सबूत लोगों को …

मंदिरा बेदी की बेटी तारा मुझे भी कुछ याद दिलाती है। Read More »

घरों का काम करने वाली माँ-और कोरोना-House helps and Covid-19 in India

यह समय मुश्किल है समझ आता है लेकिन रिंकी जैसी सिंगल माँ और अच्छे फ्लैट्स में रहने वाली “दीदी” के मुश्किल टाइम में काफी अंतर है क्या इसमें कोई संदेह किया जा सकता है? शायद नहीं। मेरे घर शाम 4 बजे काम करने आने वाली रिंकी ने जब 1 बजे दरवाज़ा बजाया तो मैंने पूछा …

घरों का काम करने वाली माँ-और कोरोना-House helps and Covid-19 in India Read More »

मेरे बच्चें की माँ से मेरी पहली मुलाक़ात

मुझे आज भी याद है कि जब कभी किसी रिश्तेदार का नया बच्चा मेरी गोद में दे दिया जाता था तो मैं इतना घबरा जाती थी, मतलब बच्चा क्या रोएगा मैं बच्चे को देखकर इतना नर्वस हो जाती थी कि हाथ-पैर कापने लगते। छोटे बच्चे अच्छे लगते थे लेकिन सिर्फ दूर से, पिक्चर्स में, असल …

मेरे बच्चें की माँ से मेरी पहली मुलाक़ात Read More »

धैर्य क्या है?

जल्दी-जल्दी खाना ख़त्म करते , मोबाइल चलाते, भागी-दौड़ी जिंदगी में धैर्य नाम का शब्द तब आया जब वो बच्चा मेरे जीवन में आया। उसके खाना ख़त्म करने का धैर्य, नींद आने पर भी उसके सोने की प्रतीक्षा का धैर्य, उसे पहला कदम चलते देखने का धैर्य। और अब उसके मुँह से पहली बार माँ/अम्मा सुनने …

धैर्य क्या है? Read More »